Breaking News
Home / Banner News / आर्ट ऑफ लिविंग का प्रशिक्षण में बुंदेलखण्ड विश्वविद्यालय टीक्युप-थ्री प्रोजेक्ट के तहत विद्यार्थियों को सिखाएं तनाव से मुक्ति के गुण

आर्ट ऑफ लिविंग का प्रशिक्षण में बुंदेलखण्ड विश्वविद्यालय टीक्युप-थ्री प्रोजेक्ट के तहत विद्यार्थियों को सिखाएं तनाव से मुक्ति के गुण

झांसी। आर्ट ऑफ लिविंग झाँसी चेप्टर के तत्वाधान मे व्यक्ति विकास केंद्र बंगलोर के अंतर्गत बुंदेलखण्ड विश्वविद्यालय के अभियांत्रिकी विभाग में टीक्युप-थ्री प्रोजेक्ट के तहत छात्र छात्राओं को मानसिक तनाव कम करने के लिए बहुत सुंदर तकनीक (SELP)का सुंदर समापन हुआ।
ज़ोनल टीचर कंचन आहूजा ने बताया ये प्रोग्राम 6 दिवसीय था जो 25 मार्च को शुरू हुआ और आज 30 मार्च को समापन हुआ इसमे बंगलोर से आये हुये स्टेट टीचर कोआर्डिनेटर राकेश भ्रमर जी ने मानसिक तनाव को दूर करने के लिए सुदर्शन क्रिया करायी व आत्म विश्वास को बढ़ाने एवम अपने गोल को पाने की अनेक तकनीक सिखाई। नीलेश शर्मा व शुक्ल ने छात्र छात्राओं को सूर्य नमस्कार, योगा के कई आसन एवम डेस्कटॉप योगा सिखाया । इस योगा को हम कुर्सी पर बैठकर ऑफिस में भी कर सकते है। कंचन आहूजा ने मन, भावनाओं व विचारों को काबू में रखने के लिए ध्यान कराया, कई प्रोसेस एवम गेम्स के द्वारा जीवन में आगे बढ़ने के उपयोगी सूत्र बताए । आज सभी छात्र –छात्राओं ने स्वछ भारत अंतर्गत अपने कैम्पस की सफाई करी। व सप्ताह में एक बार कैम्पस को साफ करने निर्णय लिया ।सभी प्रतिभागियों को आर्ट ऑफ लिविंग की ओर से प्रमाण पत्र वितरित किए गए । अंत में सभी छात्र – छात्राओं ने अपने मतदान का प्रयोग जागरूकता से करने के लिए व दूसरों को भी जागरूक करने का संकल्प लिया । इस अवसर पर कार्यक्रम समन्वयक डॉ. अवधेश प्रताप सिंह गौर, इंजी. राजकुमार, इंजी. दीपक चौरसिया, इंजी. सिंधु, इंजी सदफ़ नजीर व इंजी. अनिल श्रीवास्तवआदि का विशेष सहयोग रहा।

About Neetesh Kumar Chourasiya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *